मंत्रियों और सांसदों ने की दाती महाराज के कार्यों की सराहना
समारोह में पधारे तमाम मंत्रियों, सांसदों और जनप्रतिनिधि ;यों ने भी एक स्वर में दाती महाराज के इस महा- अभियान की सराहना की और इससे जुड़ने की शपथ ली। केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान ने इस अवसर पर कन्या भ्रूण हत्या को सामाजिक कुरीति बताते हुए बेटियों को सबल और सशक्त बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि बेटा सभी चाहते हैं, परंतु बेटी कोई नहीं चाहता। घर, परिवार में दस बेटे भी हों तो किसी को कोई चिंता नहीं होती। चाहे वे कैसे भी हों। पढ़ाई में कमजोर हों। माता- पिता की बात नहीं मानते हों। परंतु उसी घर, परिवार में एक बेटी हो जाए और वह बेटी सर्वगुण संपन्न हो फिर भी सभी चिंता में डूब जाते हैं। सभी चिंतामग्न हो जाते हैं। परंतु हमें इस मानसिकता को बदलना होगा। बेटी को भी बेटा के समान समझना होगा। बेटी को भी बेटा के बराबर का दर्जा देना होगा। हमें समय रहते बेटी और बेटा के बीच की खाई को पाटना होगा।

केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री ;  महेश शर्मा ने कहा कि दाती महाराज की प्रेरणा से  शनिधाम ट्रस्ट द्वारा पिछले 19 वर्षों से कन्या भ्रूण संरक्षण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ-देश बचाओ और महिला सशक्तिकरण की दिशा में जो कार्य किए जा रहे हैं,उनकी जितनी सराहना की जाए वो कम होगी। उन्होंने कहा कि दाती महाराज शिक्षा, स्वास्थ्य, जल, अन्न और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में प्रशसनीय कार्य कर  रहे हैं, जो मानवजाति और देश के विकास में मील का  पत्थर साबित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि महाराज के इस महा-अभियान को आगे बढ़ाने में वे हर संभव सहयोग देंगे। 

केंद 381;रीय उपभोक्ता, खाद्य एवं जनवितरण प्रणाली राज्यमंत्री ;  सी.आर. चौधरी ने कहा कि दाती एक सिद्ध संत ही नहीं,वरन सैंकड़ों बेटियों के पिता, गुरु और महान समाज सुधारक भी हैं। महाराज की प्रेरणा से  शनिधाम ट्रस्ट जनकल्याण की दर्जनों योजनाएं चला रहा है,जिनमें दाती मातृत्व बीमा योजना, दाती संकट मोचक योजना, दाती सुमंगला योजना, दाती कन्यादान योजना, दाती हाथ ठेला योजना, दाती गरीब कार्ड योजना और नंद घर एवं आपणी बेटी जैसी योजनाओं शामिल हैं। दाती महाराज स्वयं इन अभियानों को जन-जन तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं। 

केंद 381;रीय आयुष राज्यमंत्र 68; मंत्री पद् यशो नाइक ने कहा कि  दाती महाराज ने बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ- देश बचाओ अभियान चलाकर समाज को नई दिशा दी है। दाती महाराज समाज के विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए काम कर रहे हैं। महिलाओं के उत्थान के लिए ही उन्होंने दाता की जगह दाती नाम चुना। यह उनका एक मां के दायित्व की तरह है।  उन्ह 379;ंने कहा कि चाहे कन्या भूण हत्या हो या महिलाओं से जुड़े अधिकारों का विषय, इनमें सबसे ज्यादा जरूरत महिलाओं में अपने अधिकारों प्रति जागरूकता लाना है। इसके लिए हर व्यक्ति को बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ- देश बचाओ के वाक्यों को केवल बोलना भर काफी नहीं बल्कि इसके लिए इस भावना को अपने जेहन में उताकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्र  और पकृति को बचाना है तो बेटी को बचना होगा और कन्या भ्रूण हत्या जैसे घृणित कार्य से समाज को बचना होगा। 

 

केंद 381;रीय सुक्ष्म एवं लघु उद्योग मंत्री  गिरीरीज सिंह ने भी इस अवसर पर दाती महाराज के अभियान की सराहना की और उसे आगे बढ़ाने में हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया। उन्होंने बेटियों को बचाने और बेटियों को पढ़ाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि एक बेटी पढ़ेगी तो पूरा घर पढ़ेगा, पूरा परिवार पढ़ेगा, पूरा समाज पढ़ेगा। 

समार 379;ह में आए सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री ;  राज्यवर्धन सिंह राठौर ने भी दाती महाराज द्वारा कन्या भ्रूण संरक्षण एवं महिला सशक्तिकरण की दिशा में किए जा रहे कार्यों की तारीफ की। उन्होंने कहा कि दाती महाराज के इस अभियान में तन,मन एवं धन से सहयोग करना होगा। इस महायज्ञ में आहूति देना होगा और इसे देश के कोने- कोने तक पहुंचाना होगा। 

राजस 381;थान के गृह मंत्री  गुलाबचंद कटारिया, चिकित् सा एवं स्वास्थ्य मंत्री  राजेंद्र सिंह राठौर, कृषि मंत्री  प्रभुलाल सैनी, जनस् 357;ास्थ्य, अभियां त्रिकी एवं भूजल मंत्री मती किरण माहेश्वरी, गोपालन एवं देवस्थान विभाग के मंत्री  ओटाराम देवासी, जयपु 352; शहर से सांसद  रामचरण बोहरा, चित्तौ ड़गढ़ से सांसद  सीपी जोशी समेत अन्य मंत्रियों, सासदों और जनप्रतिनिधि ;यों ने दाती महाराज द्वारा जनकल्याण एवं राष्ट्र निर्माण में महती भूमिका निभाने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि दाती महाराज की प्रेरणा से  शनिधाम ट्रस्ट द्वारा राजस्थान में संचालित योजनाएं अपने आप में मिसाल हैं। कन्या भ्रूण संरक्षण, महिला सशक्तिकरण,बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ-देश बचाओ और नारी उत्थान जैसे अभियान प्रेरणादायक ; और सराहनीय हैं। इन अद्भुत एवं अनुकरणीय अभियानों के कारण न सिर्फ राजस्थान, बल्कि देश भर के लोगों की मानसिकता बदल रही है। उनकी सोच में बदलाव आ रहा है। घर, परिव 366;र, समाज और देश बदल रहा है। लोगों में जागरुकता आ रही है। लोग बेटियों का महत्व समझने लगे हैं। उन्हें यह अहसास हो गया है कि बेटियां नहीं होंगी तो हम नहीं होंगे और यह दुनिया भी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि दाती महाराज के इस अभियान का सकारात्मक असर देखा जा रहा है। पाली समेत राजस्थान के सभी जिलों में बेटियों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। राजस्थान के कई जिलों में तो बेटियों की संख्या अब बेटों से अधिक है। उन्होंने कहा कि दाती महाराज की प्रेरणा से ही आज संपूर्ण राष्ट्र में महिला सशक्तिकरण, नारी उत्थान, बेटी, बचाओ- बेटी पढ़ाओ- देश बचाओ जैसे कई अभियान चल रहे हैं। नारियों को सबल एवं सफल बनाने के उद्देश्य से सरकारी और गैर सरकारी संगठनों द्वारा भी कार्य किए जा रहा है।  शनिधाम ट्रस्ट बेटियों के जीवन को सरल, सुगम एवं सफल बनाने की दिशा में निरंतर कार्य कर रहा है। 

जनप् 352;तिनिधियों ने कहा कि दाती महाराज ने बेटियों के प्रति जनमानस में फैली कुरीतियों को, बेटियो ं के कोख में हो रहे कत्ल को गंभीरता से महसूस किया और बेटियों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ अभियान छेड़ा। राजस्थान के आलावास से शुरू होकर यह अभियान प्रदेश तथा देश के कोने- कोने में पहुंचा है।  शनिधाम ट्रस्ट का उद्देश्य देश के प्रत्येक व्यक्ति को सामाजिक, आर्थिक एवं व्यक्तिगत रूप से सबल बनाना भी है। शनिधाम ट्रस्ट के कार्यक्षेत् ;र में गरीबी उन्मूलन, महिल 366; सशक्तिकरण, महिला उत्थान, नारी सम्मान, स्वास् थ्य, शिक् 359;ा, कन्या भ्रूण संरक्षण, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, देश बचाओ जैसे अभियान शामिल हैं। 

दाती कन्या भ्रूण संरक्षण दिवस पर आयोजित समारोह में हरियाणा के मुख्यमंत्री ;  मनोहरलाल खट्टर, केंद 381;रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री ;  महेश शर्मा, आयुष राज्यमंत्री ; पद नाइक, सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री ;  राज्यवर्धन सिंह राठौर, कन्ज्य ूमर अपेयर्स, फूड एण्ड पब्लिक डिस्ट्रीव्य ;ूशन राज्यमंत्री ;  सीआर चौधरी, सुक् 359;्म एवं लघु उद्योग राजमंत्री  गिरिराज सिंह, राजस्थ ान के गृह मंत्री  गुलाबचंद कटारिया, चिकि 340;्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री  राजेंद्र सिंह राठौर, कृषि मंत्री  प्रभुलाल सैनी, जनस् 357;ास्थ्य, अभियां त्रिकी एवं भूजल मंत्री मती किरण माहेश्वरी, गोपालन एवं दवस्थान मंत्री  ओटाराम देवासी, जयपु 352; शहर से सांसद  रामचरण बोहरा, चित्तौ ड़गढ़ से सांसद  सीपी जोशी, Back


अहोई अष्टमी पर कैसे करें पूजा- मदन गुप्ता सपाटू
 

कार्तिक कृष्ण पक्ष की अष्टमी पर पड़ने वाली अहोई माता का व्रत शनिवार को आ रहा है। शनिवार की दोपहर एक बज कर 11 मिनट पर सप्तमी समाप्त हो जाएगी तथा अष्टमी लग जाएगी जो रविवार की दोपहर 12 बजकर 29 मिनट तक रहेगी।


23 अक्तूबर रविवार को करें जमकर खरीदारी
 

23 अक्तूबर, रविवार को भी खरीदारी के महायोग बन रहे हैं। इस दिन राधाष्टमी, कालाष्टमी, रविवार के दिन पुष्य योग अर्थात रवि पुष्य योग के अलावा सर्वार्थ सिद्धि योग तथा श्री वत्स योग भी पड़ रहा है।


मंत्रियों और सांसदों ने की दाती महाराज के कार्यों की सराहना
 

समारोह में पधारे तमाम मंत्रियों, सांसदों और जनप्रतिनिधि ;यों ने भी एक स्वर में दाती महाराज के इस महा- अभियान की सराहना की और इससे जु


दाती कन्या भ्रूण संरक्षण दिवस पर संतों नें किया आहवान
 

दाती कन्या भ्रूण संरक्षण दिवस पर श्री सिद्ध शक्तिपीठ शनिधाम में भव्य धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों ; का आयोजन भी किया गया


दाती कन्या भ्रूण संरक्षण दिवस पर धार्मिक एवं सास्कृतिक कार्यक्रमों ; का हुआ आयोजन
 

10 जुलाई 2016 की शाम समस्त चराचर जगत के लिए यादगार बन गई। इस शाम राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के असोला, फतेहपुर बेरी स्थित श्री सिद्ध शक्ति


संस्‍कृति मंत्रालय ने एक भारत श्रेष्‍ठ भारत पर पहली राष्‍ट्रीय स्‍तर कार्यशाला का आयोजन किया।
 

देश के नागरिकों में राष्‍ट्रवाद ; और सांस्‍कृतिक ; जागरूकता पैदा करने के लिए एक ठोस तंत्र स्‍थापित करते हुए एक भारत श्रेष्‍ठ भार&


साईं पूजा की वजह से महाराष्ट्र में पड़ रहा सूखा- शंकराचार्य
 

शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है ।उन्होंने कहा है कि सांई बाबा एक फकीर थे। भगवान की 


मंगल दोष होने पर न घबराये उपाय से होगा उपचार घट विवाह है उत्तम और दो बार विवाह करने से मिलेगी पूर्ण शांति
 

कालयोगी आचार्य महिंदर कृष्ण शर्मा- मंगल गर्म प्रकृति का ग्रह है.इसे पाप ग्रह माना जाता है.विवाह और वैवाहिक जीवन में मंगल का अ


कैसे करे राहु और केतु को शांत
 

शनि के अनुचर हैं राहु और केतु। शरीर में इनके स्थान नियुक्त हैं। सिर राहु है तो केतु धड़। यदि आपके गले सहित ऊपर सिर तक किसी भी प्


क्या मतलब होता है आपके सपनो का
 

काल योग सेवा द्वारा कुछ शोध् के बाद सपने में कुछ भी देखने का क्या फल होता है आचार्य महिंदर कृष्ण ज़ी द्वारा अपने अनुभव और गुरुओ